Environment


Kindly Follow
http://www.keyofallsecret.com

World Environment Day 5th June 2022 “मानव का धरा से संवाद”

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर Biodiverse Forest, Nalagarh में नालागढ़ साहित्य कला मंच के प्रसिद्ध साहित्यकारों के साथ IFS अधिकारी S. Yashudeep Singh जी के संरक्षण में कवि सम्मेलन में भाग लिया…प्रकृति मां की गोद में बैठ कर कविता पाठ करने में आनंद ही आनंद है…

धरा क्यों सूख रही,
क्यों मानवता से रूठ रहीं,
कितनी हरियाली थी पहले,
जल ही जल था तेरे अंचल में,
धन धान्य कन्द और मूल भी थे,
क्या खूब रसीले फल फूल भी थे,
नदियां सूखीं – मिट रहे जलाशय,
ओ धरा बता – क्या तेरा आशय,
क्या कहूं पुत्र मैं हूं उदास,
अब नहीं रही मानव से आस,
लोलुपता इस पर छाई,
नहीं याद रही इसको माई,
मेरे तन को यह छील रहा,
वन पर्वत जलाशय खोद रहा,
ले खनिज मेरा – मुझे ही रौंद रहा,
कर आविष्कार नए नए आयुधों का,
मुझको पल पल ही फूंक रहा,
दो युद्ध किए बड़े भीषण ही,
तब से बिगड़ा मेरा संतुलन ही,
अब यदि तीसरा युद्ध किया,
समझो मुझको बर्बाद किया,
मेरी क्या गलती पुत्र बता,
क्यों रहे यह मानव मुझे सता,
मेरे पालन में क्या रही कमी,
हर मानव के मन है गमी,
मां धरा – बड़ा अनर्थ हुआ,
समस्त विकास है व्यर्थ हुआ,
कुछ तो इसका भी हल होगा,
सब हो पहले सा हरा भरा,
कभी तो सुनहरा पल होगा,
अब भी यदि मानव ठान ले मन में,
मां को कोई कष्ट न दूंगा,
जल की एक भी बूंद को मैं,
यूंही व्यर्थ न होने दूंगा,
बावली कुंए करूंगा निर्मित,
हरियाली को करूंगा सिंचित,
पर्वत वन को कष्ट न होगा,
हर घर में – पथ में वृक्ष लगेगा,
मैदान बनेंगे फिर से वन,
महके चहकेंगे फिर जीवन – 2  ।।


Please follow http://www.keyofallsecret.com

चिंता Worries

जीवन में सुख व दुख दोनों ही अपने निर्धारित समय पर आते जाते रहते हैं। सुख के तो कहने ही क्या…वह तो दुख ही है जो बेचैनी, चिंता व अवसाद देता हुआ चिता ही बन जाता है, पर यदि इस चिता रूपी चिंता को चिंतन में परिवर्तित करने का प्रयत्न करें तो मन शांत व स्थिर होना शुरू हो जाता है।
Both happiness and sorrow keep coming and going at their fixed time in life. Happiness is amazing. It’s the only sadness that turns into a pyre giving restlessness, anxiety and depression, but if you try to convert this grave-like worry into positive contemplation, then the mind starts to become calm and stable.

चिंता तोड़े तन बदन को
निचुड़े सारा मन मस्तिष्क
चिंता माने हार पल भर में
करे विचारों को संकुचित
ग्रीवा झुके हर इक के आगे
शब्द न हों मुख से स्फुटित
भूले सद् राहें रहे भ्रमित
स्थिर न हो पाए चित्त
मेल जोल सब छोड़ छाड़ कर
एकांत में रहे व्यथित
हंसना गाना भूल भाल सब
बैठ रोए कोने में नित
जिसकी बैचैनी बनती चिंता
मृत समान वह रहता जीवित
चिंताओं के पार क्षितिज है
असीमित व अपरिमित
चहुँ ओर प्रकाश की फैलीं किरणें
किंचित मात्र भी नहीं तिमिर
बरखा बहार संग गुनगुनाए
सुगंध बयार में घुल जाए
ऐसा हो सकता है सच में
जब चिंता चिंतन बन जाए
जब चिंता चिंतन बन जाए।


Dreams

Come, dream with your eyes awake and start making them come true from today itself…

I saw different types of dreams while sleeping at nights
Someone was sour
Someone was sweet
Someone was bitter
Someone was astringent
Someone was toxic
Someone was annoying
Happiness in someone
Bemoaning in someone
Helplessness in someone
Found in someone
Lost in someone
Someone was meaningless
Someone with amazing beaty
Someone with horrible scenes
Saw an angel in someone
Saw messenger of
death in someone
All the dreams I have seen
while sleeping till today
are all illusions of the mind
Only those dreams come true
what you see with
your awake eyes
Accept all challenges
to fulfill your dreams
Don’t give up till the end
Darkness will disappear surely
And then everyone
will appreciate you.


🌸 http://www.keyofallsecret.com 🌸

सपने

आईए…जागती आंखों से सपने देखें और उनको सच करने में आज से ही जुट जाएं

अक्सर रातों में सपने देखे
मैंने बारम्बार
कोई था खट्टा
कोई था मीठा
कोई था तीखा लाल
कोई कसैला
कोई विषैला
कोई जी का था जंजाल
किसी में खुश था
किसी में रोता
किसी में था बेहाल
किसी में पाया
किसी में खोया
किसी में देखे झोलम झाल
किसी में देखा सौंदर्य अद्भुत
किसी में रूप दिखे विकराल
किसी में देखा देवदूत को
किसी में देखा काल
सोकर जितने सपने देखे
मन के भ्रम थे बेकार
सच तो वो होते हैं सपने
जो जाग के देखो बारम्बार
काम करो उन सपनों ऊपर
करो चुनौती स्वीकार
अंत समय तक हार न मानो
मिट जाएगा अंधकार
फिर होगी जय जयकार
फिर होगी जय जयकार


http://www.keyofallsecret.com

सुंदरता Beauty

ऐ प्यारी सुंदरता!
ख्वाहिश रखता है
पाने की तुम्हें हर कोई
स्त्री हो या पुरूष
युवा हो या प्रौढ़
तलाश में तुम्हारी
नजर आता है हर कोई
मेहरबां हो जाती हो
जिस किसी पे भी तुम
मन ही मन इठलाता सा
नजर आता है सोई
नाम भले ही तुम्हारा एक है
पर रूप तुम्हारे अनेक हैं
वाणी में – शब्दों में
बोलों में – गीतों में
बात में – व्यवहार में
तन पर – मन पर
दिलो – दिमाग पर
सौम्यता बनकर छा जाती हो तुम
प्रकृति पे आच्छादित हो कर
मां जैसी मुस्कुराती हो तुम
मैं भी तो चाहता हूं हर पल तुम्हें
दीवानों की तरह
महक जाना चाहता हूं
भरकर तुम्हारी सुगंध से
फूलों की तरह
पर सच तो यह है कि
जिनके मन शीशे के मानिंद
होते हैं साफ
भूल कर वैर – विरोध
और सभी बुराईयां
कर देते हैं हर इक को माफ
उनके दिलों की गहराईयों में
समा सी जाती हो तुम
अंतर्मन को उनके
महका सी जाती हो तुम
उनकी आंखों में सदा 
झिलमिलाती हो तुम
दिव्य आभा बन मुख पर
चमचमाती हो तुम
उनके तन और मन को
रोशन सा कर जाती हो तुम


Follow & Enjoy http://www.keyofallsecret.com

चौराहा

हम जीवन भर कितनी भी दौड़ भाग कर लें, इस जीवन को असली मान बैठें, परन्तु असल में तो एक दिन रुक ही जाना है और अपने असली घर वापिस जाने के लिए असली चौराहे यानी श्मशान या कब्रस्तान आना ही है, यही वास्तविकता है।

मैं अंधेरी रातों में
चौराहे पर खड़ा सोचता रहता हूं
कि यह अंधेरे रास्ते
कहीं तो जाते होंगे,
आगे जाके न जाने कितने
मोहल्लों – गलियों और छोटे – छोटे
तंग रास्तों से जुड़ जाते होंगे,
उनके आगे न जाने कितने
मैदान – तालाब – नदियां
और पहाड़ आते होंगे,
कहीं तो आखिरी छोर होगा इनका,
आखिर यह कहां तक जाते होंगे,
न जाने कैसे कैसे लोगों से
यह टकराते होंगे,
हर किसी का वास्ता
तो इनसे पड़ता ही है,
क्योंकि हर एक इन्हीं से जुड़े
घरों में जन्मता है,
सोचता हूं हर एक
इस चौराहे तक तो आता ही होगा,
फिर दूजे रास्तों की खाक छानकर
अपने रास्तों पर लौट जाता होगा,
कुछ इस चौराहे को श्मशान
तो कुछ कब्रस्तान कहते हैं,
छोड़ने आते हैं औरों को
और लौट जाते हैं,
मैं अकेला खड़ा रह जाता हूं
यहां यह सोचकर,
आखिरकार तो यहां आना ही है,
यही तो है घर अपना
सही ठिकाना ही यह है,
क्यों मैं दौडूं शुरू से आखिर तक,
खींचूं लकीरें कि यह रास्ता है मेरा,
क्यों न बैठा रहूं यहां उसी की याद में,
आखिर इसी के ऊपर तो रहता है हमदम मेरा।।


http://www.keyofallsecret.com

विस्मृति से स्मृती Remembrance From Oblivion

हमें लगता है कि सब कुछ सही चल रहा है…हम सदा ही रहेंगे…हमें कुछ नहीं होगा और इसी क्रम में एक दिन एक झटके के साथ ही सब कुछ पीछे छूट जाता है और हम फिर से इस अमूल्य जीवन को ऐसे ही समाप्त कर चुके होते हैं।
यदि हम पिछली भूलों को स्मरण करते हुए वर्तमान को संवारने के प्रयत्न करें तो हमारा  जीवन जीना सार्थक हो सकता है।

कभी जलाया गया
कभी दफनाया गया
कभी चील कौवों द्वारा
नोच – नोच के खाया गया
कभी न जाना न समझा
क्यों यह हुआ
कभी जने बच्चे बन के स्त्री
कभी बन पुरूष
वन – वन भटकता रहा
न जाने किन – किन रूपों में
किन – किन योनियों में आता रहा
मानव देह की प्रतीक्षा मैं करता रहा
चिर युगों पश्चात्
फिर से मिली है यह देह
मिलते ही पिछला सब विस्मृत हो गया
जन्म लेते ही चासनी बनी अहंकार की
आज तक उसी में मैं लिपटता रहा
जो अब भी न समझा अब भी न जाना
संग मेरे घटित हुआ है यह सब
कहीं अब भी यदि यह नहीं माना
तो फिर से यह क्रम चलता रहेगा
चलेगी चक्की समय की
मैं पिसता रहूँगा
फिर मिलेगी देह तो
किसी न किसी की
संघर्ष जीवन का फिर से होता रहेगा
कुछ पाऊँगा और कुछ खोता रहूँगा
फिर मिलेगी यह देह और मैं सोता रहूँगा
हे भगवन् कर दे वर्षा तूं अपनी कृपा की
दे उतार गन्दगी – चासनी यह मेरी
दे सद्बुद्धि हो जाए सद्गति मेरी
मिले सुमति – नष्ट हो यह कुमति मेरी
फिर न भुगतने पड़ें और दुष्परिणाम
खो जाऊं तुझमें ही भूल के स्वयं को
सदा लेता रहूँ मैं तुम्हारा ही नाम
सदा लेता रहूँ मैं तुम्हारा ही नाम।।

http://www.keyofallsecret.com

गुरु गोबिंद सिंह जी

प्रकाश पर्व

वाह गुरु प्रकाश हुआ जब तेरा
सूरज को नया नूर मिला
चमके तारे अजब चमक से
चंद्रमा का प्रकाश बढ़ा
मृत प्रायः समाज के भीतर
नई उमंग नया जोश चढ़ा
मुरझाते धर्म के पौधों में
नव जीवन का संचार हुआ
रोती मिटती मरती जनता ने
सन्त सिपाही रूप धरा
अमृत पाकर धन्य हुए सब
सबमें शक्ति का रूप दिखा
माता पिता पुत्र सब वारे
तब ही तो सच धर्म बचा
हे गोबिंद तेरी क्या कीरत गाएं
तुझसे ही भारत वर्ष सजा
तुझसे ही भारत वर्ष सजा


http://www.keyofallsecret.com

यूं – ज्यूं

जैसे कमल का फूल डूबने की चिंता किए बिना मस्त रह कर जल पर मुस्कुराते हुए तैरता रहता है…आईए, इसी प्रकार हम भी चिंता के भार को उतार कर हल्के हों और निश्चिंतता रूपी जल पर तैरें…

गहन सोच में डूब रहा यूं
नाव नदी में डूब रही ज्यूं
उलझे विचार मन मष्तिष्क में यूं
धागों के गुच्छे उलझे ज्यूं
सोच विचार हुए व्यर्थ यूं
मुरझाया पौधा बिन जल ज्यूं
गहरी चिंता में खिन्न हुआ यूं
बाजी जुए में हार गया ज्यूं
उलझन का कीचड़ पकड़े यूं
गहरी अथाह दलदल जकड़े ज्यूं
त्याग कूप चिंता का अब यूं
तैरे कमल पुष्प जल पे ज्यूं
बन सहज सरल अब फिर से यूं
नन्हा मासूम शिशु होता ज्यूं


http://www.keyofallsecret.com

सुधि

आईए, अपनी चिता जलने से पहले ही http://www.keyofallsecret.com के साथ स्वयं की सुधि लेकर के अपने जीवन को सुधार लें

जब जली चिता तब हुआ चकित
डरा व्यर्थ क्यों जीवन भर
लपट आग की मुझे जलाए
खड़ा तो हूँ मैं यहाँ इधर
नहीं तपिश लग रही है कोई
कैसा यह चमत्कार है
न मुख से निकली चीख है कोई
सब तपिश – जलन बेकार है,
न अपनों के जयकारे हैं
न दुश्मन की ललकार है
सब देखें स्वयं को ऐंठ – ऐंठ के
सबका ही अहंकार है
सब चले छोड़ के मुझको यूँ ही
सोचें अब यह बेकार है
अब नहीं है रिश्ता किसी से कोई
न ही कोई तकरार है,
सब सोच रहे यह गया है मर
पर अब तो मुझको सुधि हुई
जीवन भर ही तो मरा रहा
तभी तो यह सब गति हुई
हंसने – रोने में श्वांस गंवाए
तभी तो मेरी क्षति हुई,
काश…हे भगवन्!
फिर दे चोला
कदम यह तेरी ओर चलें
रहे संग तेरे प्यारों का
अंत में हम और तुम मिलें
अंत में हम और तुम मिलें।


http://www.keyofallsecret.com

I’ll struggle with storm

Let’s fight with the fierce storms that come in life and win at any cost with the inspirations of http://www.keyofallsecret.com

I must get down into the booming sea,
I’ll have to bear the wrath of the raging waves,
I’ll have to defend myself from the prickly winds that sre sharp like knife,
I have to defend my ship that is shattering like a straw,
I can’t see myself as a loser…any how
I’ve to win by battling,
those golden moments in life will come again,
When the blue sea will calm down,
The sun’s rays would be spreading a golden halo over the waves,
my little ship will float again on the huge chest of calm waves,
The gusts of cool wind will return again to sing the lullaby to me,
I’ll take sound sleep again to have sweet dreams.


Please Follow http://www.keyofallsecret.com

जूझूँगा तूफान से

उतरना ही होगा मुझे फिर से
उफनते हुए समुंद्र में
सहना ही होगा क्रोध
प्रचण्ड होती जा रहीं लहरों का
खुद को झोंकना ही होगा
चाकू सी धारदार हवाओं के
अनगिनत प्रहारों के बीच
स्वयं ही करना ही होगा बचाव
तिनके की तरह बिखरते हुए
मेरे जहाज का
नहीं देख सकता यूं ही
टूटते हुए खुद को
जूझना ही होगा
हर हाल मुझे जीतना ही होगा
फिर से आएंगे जीवन में
वह सुनहरे पल
शांत हो जाएगा नीला समुंद्र
बिखेर रहीं होंगी सूरज की किरणें
स्वर्णिम सी आभा
तैराएंगी फिर से शांत लहरें
मेरे छोटे से जहाज को
अपने विशाल सीने पर
मस्त पवन के झोंके
आएंगे फिर से
मुझे सुनाने को लोरी
लूंगा एक झपकी प्यारी सी
एक बार फिर से
मीठे सपनों में खो जाने के लिए


आईये, http://www.keyofallsecret.com के साथ मिलकर जीवन में आए भीषण तूफानों से डटकर जूझें और हर हाल में जीतें

Truth – only Truth

If you think carefully, everything in this world is false…because when life is not true, then what else will be true. Only Almighty God, which is sitting within us, is true

This world is illusion only,
All you want will be lost,
All you want will be snached,
All you want will be robbed,
Lie is spread everywhere,
Whatever we believe that is to be the true – that’s all lie,
Like when a balloon explodes –
the air leaves in an instant,
Everything is illusion only – not truth
The truth is hidden only
within ourselves,
Leave outside – peep inside,
The truth is shining in heart as gem.


Let’s search real truth with http://www.keyofallsecret.com

सच ही सच

यहां जो चाहो
मिट जाता है
यहां जो चाहो
छिन जाता है
यहां जो रखो
लुट जाता है
यहां हर ओर है फैला झूठ
सच समझा – मिथ्या बन जाता है
यहां नहीं है सच में कुछ भी
दृष्टि का फैलाव है
गुब्बारे ज्यों भरी पवन
पल में फूटे
बिखराव है
सच यहां नही है
वहां नहीं है
केवल भीतर छुपा हुआ है
बाहर छोड़ जब झांका भीतर
सच रत्न ह्रदय में जड़ा हुआ है।


आइए…www.keyofallsecret.com के साथ मिलकर सच की खोज करते हैं

Only You Are

No one knew –
No one –
No one was here to know anything,
There was nothing but
God was somewhere,
It’s true that God was right only,
He was right – He is – He will be,
He is the provider of all,
He doesn’t have to go anywhere-
He is omnipresent,
Everything is done by Him & will do,
Whatever we see –
All belongs to Him,
Everything originates from Him
& will eventually dissolve within Him,
It’s true that You know Yourself
& only You are right,
You were the one only –
Always will be –
You’re You.


If you like Spirituality…You’re on the right platform http://www.keyofallsecret.com

केवल तूं ही Only You Are

किसी को किसी की
खबर ही नहीं थी
खबर रखता भी कौन
कोई तो न यहां था
कुछ भी नहीं था
पर वह तो कहीं था
यह सच है कि
केवल वही एक सही है
सभी कुछ है उसमें
सभी में वही है
न आता न जाता
वह हरदम यहीं है
वह खुद ही है करता
और खुद ही करेगा
सब निकला उसी से
उसी में मिलेगा
यह सच है कि तुझको ही
तेरी खबर है
तूं इक था – रहेगा
तूं ही तूं – तूंही है।

Feel Spirituality with wwe.keyofallsecret.com