Blog

हिंदी Hindi

भारतीय संस्कृति थी विश्व में फैली,संस्कृत ही प्रथम भाषा थी,हिंदी इसकी मुंहबोली बेटी थी,और भारत की परिभाषा थी,इस पर काले बादल छाए,घनघोर विष की वर्षा लाए,अरबी फारसी उर्दू आदि ने,इस पर गहरा आघात किया,अंगेजों की अंग्रेजी ने,इसको लगभग समाप्त किया,पर विद्वानों ने अनवरत,इसका भी उपचार किया,लेकर इसको साथ चले,फिर से इसका प्रचार हुआ,राग छुपे हैं … Continue reading हिंदी Hindi

मानसिक आजादी Mental Freedom

आजाद होते हुए भी हम कहीं न कहीं से विदेशी संस्कृतियों के जाल में फंसे हुए हैं। वह हमारी पवित्र पुरातन संस्कृति को तेजी से अपना रहे हैं और हम उनकी। इस जाल को काटकर हमें मानसिक रूप से स्वतंत्र होना होगा।

चलते रहिए Keep going

हम अपनी जिंदगी में किसी हद तक परेशान भले ही क्यों न हो जाएं, गमों के बोझ तले भले कितना ही क्यों न दब जाएं। पूरी हिम्मत से फिर से आगे बढ़ने पर कामयाबी जरूर मिलती है।
Even if we get disturbed to some extent in our life, no matter how much we get buried under the burden of sorrows. Success is definitely achieved if you move forward again with full courage.
Ham apanee jindagee mein kisi hadd tak pareshaan bhale hee kyon na ho jaen, gamon ke bojh tale bhale kitana hee kyon na dab jaen. pooree himmat se phir se aage badhane par kaamayaabee jaroor milatee hai.

बढ़ता है समय आगेरुकता नहीं है,बदलता चोला नया हैभीतर होता वही है।

चमक

तपेगा जो हर पलनिखरेगा वहीभविष्य के शिखर परचमकेगा वही

भेषधारी

झूठे भेषधारी जनता को बेवकूफ बनाकर अपनी झोलियां तो भर सकते हैं पर भीतर से वह भी भयभीत ही रहते हैं… वहीं सच्चे संत सच की राह पर चलकर अपने प्रभु संग आनंदित रहते हैं।

जागो Wake up

हमारी पूरी जिंदगी जोड़ – घटाव यानी सुख का पीछा करने में ही बीत जाती है और हम असली सुख देने वाले को बिसारते रहते हैं, परन्तु सोते से जागने और सच्चे सुख को पाने की शुरुआत कभी भी हो सकती है।

बीज Seed

पृथ्वी पर हरियाली का आरंभ होने से पहले धरती में बीज कहां से आए, यह एक परम् आश्चर्य है एवं उन लघु बीजों के भीतर में कौन सी शक्ति छुपी बैठी है जो समय आने पर इतना विशाल रूप धारण करके सबकी पालना करती है।
Before the beginning of greenery on earth, where did the seeds come from in the earth, it is a great wonder and what power is hidden among those small seeds, which when the time comes, takes such a huge form and sustains everyone.
Prithvi par hariyali ki shuruaat hone se pahle dharti mein beej kahan se aaye, yeh ek param aashcharya hai aur un chhote se bijon ke bhitar mein kaun si shakti chhupi baithi hai, jo samay aane par itna vishal roop dharan karke sabka palan poshan karti hai.

Loading…

Something went wrong. Please refresh the page and/or try again.


Follow My Blog

Get new content delivered directly to your inbox.