जागो Wake up

हमारी पूरी जिंदगी जोड़ – घटाव यानी सुख का पीछा करने में ही बीत जाती है और हम असली सुख देने वाले को बिसारते रहते हैं, परन्तु सोते से जागने और सच्चे सुख को पाने की शुरुआत कभी भी हो सकती है।

उम्र बढ़ती रही,
मैं बिगड़ता रहा,
लालसा बढ़ती रही,
मैं बढ़ाता रहा,
मासूमियत छोड़ कर,
वह बचपन की,
जवानी में गोते लगाता रहा,
मैं जोड़ता रहा,
तमाम उम्र बहुत कुछ,
पर अनमोल सांसें गंवाता रहा,
मैं समझता रहा,
गहरे समंदर में खुद को,
पर कीचड़ में खुद को लिपटाता रहा,
दुनिया को हर पल निहारा किया,
पर खुद से ही,
नजरें चुराता रहा,
जो न करना था,
वह ही किया उम्र भर,
जो था करना,
उसी से किनारा मैं करता रहा,
गर अब भी जाग जाऊं,
सोते से आज भी,
मिलेगा वह जो,
हर क्षण है,
दिल में धड़कता रहा।


Please follow http://www.keyofallsecret.com

बीज Seed

पृथ्वी पर हरियाली का आरंभ होने से पहले धरती में बीज कहां से आए, यह एक परम् आश्चर्य है एवं उन लघु बीजों के भीतर में कौन सी शक्ति छुपी बैठी है जो समय आने पर इतना विशाल रूप धारण करके सबकी पालना करती है।
Before the beginning of greenery on earth, where did the seeds come from in the earth, it is a great wonder and what power is hidden among those small seeds, which when the time comes, takes such a huge form and sustains everyone.

बीज हैं आते पौधों से,
पौधे हैं आते बीजों से,
यह क्रम यूं ही चलता रहता है,
न जाने कितने युग से,
नहीं है कोई जान सका,
आए यह बीज कहां से,
क्या पहले से ही थे ढेरों,
या आए हैं उस एक से,
आरंभ हुआ है जीवन का,
इन अनगिनत बीजों से,
देते जीवन जीवों को,
बन फूल – फसल – फल – सब्जी से,
शुद्ध वायु – लकड़ी देते,
अपनी पावन हरियाली से,
होता आश्चर्य कैसे बनता,
वृक्ष विशाल लघु बीजों से,
लग जाते नव निर्माण में,
ज्यों ही मिलते धरती मां से,
नमन उसे जो देता शक्ति,
बीजों को भीतर से।


Please follow http://www.keyofallsecret.com